file

प्रिय साथियों,

              गृह रक्षा संगठन की स्थापना 6 दिसम्बर 1962 में की गई थी। ''निष्काम सेवा'' के सिद्धान्त पर आधारित यह संगठन, बढती उपयोगिता एवं लोकप्रियता के कारण आज राज्य का सबसे बड़ा सरकारी स्वयं सेवी संगठन है। गृह रक्षा स्वयं सेवकों का प्रशासन एवं पुलिस के साथ मिलकर आन्तरिक सुरक्षा तथा कानून एवं व्यवस्था बनाये रखने में महत्वपूर्ण योगदान रहता है। साथ ही दूसरी ओर, इन स्वयं सेवकों ने राज्य में एवं राज्य से बाहर अन्य राज्यों में लोकसभा/विधान सभा चुनावों में पूर्ण लगन एवं उत्साह के साथ अपनी ड्यूटी देते हुए शान्तिपूर्वक चुनाव सम्पन्न कराने में अत्यन्त महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन किया है। समय—समय पर हमारे स्वयं सेवकों की भूरि—भूरि प्रशंसा इसका प्रत्यक्ष प्रमाण है।

मुझे आशा ही नही पूर्ण विश्वास है कि हम अथक परिश्रम, कर्तव्यनिष्ठा, व्यावसायिक दक्षता एवं अनुशासन के साथ कार्यरत रहते हुए संगठन की दक्षता एवं उपयोगिता बढाने के लिये सतत् रूप से प्रयासरत रहेंगे।

                                       शुभकामनाओं सहित,

                                         राजीव दासोत, आई.पी.एस.

महानिदेशक, गृह रक्षा, राजस्थान।